एक्सेस एग्रीकल्चर ने जीता सतत खाद्य और कृषि के लिए अंतर्राष्ट्रीय नवाचार पुरस्कार

एक्सेस एग्रीकल्चर ने युवा उद्यमियों के अपने मॉडल के आधार पर "पुरस्कार नवाचार के लिये  जो स्थायी खाद्य प्रणालियों में युवाओं को सशक्त बनाता है" श्रेणी में स्थायी खाद्य और कृषि के लिए प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय नवाचार पुरस्कार जीता है।

संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) और स्विट्जरलैंड सरकार की अध्यक्षता में निर्णायक समिति ने 1 अक्टूबर, 2021 को विश्व खाद्य मंच कार्यक्रम में विजेताओं की घोषणा की, कुल मिलाकर, 83 देशों से 400 प्रविष्टियां थीं।

निर्णायक समिति ने बिजली, इंटरनेट कनेक्शन या मोबाइल फोन सिग्नल की आवश्यकता के बिना दूरस्थ समुदायों तक पहुंचने के लिए सौर ऊर्जा संचालित स्मार्ट प्रोजेक्टर का उपयोग करते हुए, पारिस्थितिक और जैविक खेती और खाद्य प्रसंस्करण पर वीडियो दिखाने वाले युवा उद्यमियों के एक्सेस एग्रीकल्चर के मॉडल की प्रशंसा की।

एक्सेस एग्रीकल्चर पुरस्कार राशि का उपयोग विकासशील देशों में ग्रामीण पहुंच के लिए युवा उद्यमियों के अपने नेटवर्क का विस्तार करने के लिए करेगा।

जोसेफिन रॉजर्स, कार्यकारी निदेशक, ने कहा, "हम इसे न केवल युवा रोजगार और व्यवसाय विकास के लिए, बल्कि किसानों को कृषि पारिस्थितिकी की ओर परिवर्तन में मदद करने के लिए, उनकी आय को बढ़ाने और इस तरह अधिक टिकाऊ खाद्य प्रणालियों में योगदान करने के लिए एक अत्यधिक प्रतिकृति मॉडल के रूप में देखते हैं।"

“यह पुरस्कार जीतना वास्तव में एक्सेस एग्रीकल्चर के लिए एक बड़ा सम्मान है। यह हमें प्रोत्साहित करता है और दुनिया भर में दूरस्थ समुदायों तक पहुंचने के लिए हम में विश्वास पैदा करता है। 90 से अधिक भाषाओं में किसान-से-किसान प्रशिक्षण वीडियो के हमारे समृद्ध संग्रह के साथ, हम दक्षिण-दक्षिण सीखने में योगदान करने और मुख्यधारा कृषि पारिस्थितिकी में मदद करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं ” उन्होंने कहा।

अधिक जानकारी के लिए देखें:

संपादकों के लिये टिपण्णी:

2018 से, एफएओ और स्विट्जरलैंड की संघीय सरकार ने सतत खाद्य और कृषि के लिए अंतर्राष्ट्रीय नवाचार पुरस्कार के माध्यम से सर्वोत्तम कार्य प्रणालियों को सार्वजनिक रूप से मान्यता देकर नवाचार को प्रोत्साहित किया है। खाद्य पैदा करने के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकियों और नवीन प्रणालियों दोनों में खाद्य कार्य प्रणालियों को बदलने की क्षमता है, छोटे किसानों को बेहतर भविष्य प्रदान करता हैं, खेती को अधिक टिकाऊ बनाता हैं और अंततः विकसित और विकासशील देशों के बीच डिजिटल अंतर का अंत करता हैं।  

वर्ग