संचालक मण्डल

लॉरेंसिया एडम्स एक ग्रामीय समाजशास्त्री  हैं जिन्होंने घाना विश्वविद्यालय से उद्यमिता प्रबंधन में एम.बी.ए.  की पढाई की है। वह पैन अफ्रीकन ऑर्गनाइजेशन फॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट (पी.ओ.एस.डी.इ.वी)  की कार्यकारी निदेशक रह चुकी हैं और घाना रिसर्च एंड एडवोकेसी प्रोग्राम की टीम लीडर हैं। उन्होंने सामाजिक जवाबदेही और छोटे एवं मध्यम उद्यमों,  गैर-सरकारी संगठनों और मानव समाज संबंधी संगठनों के संगठनात्मक विकास पर 20  से अधिक वर्षों तक राष्ट्रीय और दाता संगठनों के साथ काम किया है। वह यू.एस.ए.आई.डी, यूरोपीय संघ,  सी.आई.डी.ए,   डी.ए.एन.आई.डी.ए  और विश्व बैंक के अनुदान प्रबंधन के अनुपालन में एक ठोस अनुभव के साथ एक लिंग विशेषज्ञ हैं ।
रशीदा के. चौधरी  लोकप्रिय शिक्षा अभियान  (सी.ए.एम.पी.इ)  की  कार्यकारी निदेशक हैं,  जो बांग्लादेश में हजार से अधिक शिक्षण एनजीओ,  शोधकर्ताओं और शिक्षक समूहों का एक गठबंधन है। वह बांग्लादेश इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट स्टडीज (बी.आई.डी.एस)  की एक वरिष्ठ अध्येता और समावेशी वित्त एवं विकास संस्थान (आई.एन.एम)  की कार्यकारी समिति की  सदस्य हैं। वह सेंटर फॉर ट्रस्टीज़ ऑफ पॉलिसी डायलॉग (सी.पी.डी) जो एक स्वतंत्र थिंक-टैंक है, जो विकासशील देशों के लिए महत्वपूर्ण मुद्दों पर केंद्रित है, के बोर्ड ऑफ ट्रस्टी की सदस्य हैं, और राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय में शिक्षा और लैंगिक न्याय के अधिकार पर एक नियमित वक्ता हैं  ।
डेविड नूगी ने नैरोबी विश्वविद्यालय से पशु चिकित्सा का अध्ययन किया। उन्होंने सात साल केन्या सरकार के साथ काम कर अपने करियर की शुरुआत की, जहां वह एक जिले (अब काउंटी) की प्रमुख बने, उसके बाद उन्होंने 25 से अधिक वर्षों तक निजी क्षेत्र में काम किया। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में खाद्य उत्पादन, खाद्य सुरक्षा को बढ़ावा देने और गरीबी को कम करने के लिए पशुधन क्षेत्र को विकसित करने में मदद की । वह पूरे पूर्वी अफ्रीका में कृषि उद्योग में विपणन और प्रबंधन के ठोस ज्ञान वाले एक व्यवहारिक व्यक्ति हैं।
मैरी कमाउ अफ्रीकन फोरम फॉर एग्रीकल्चर एडवाइजरी सर्विसेज (ए.एफ.ए.ए.एस) के बोर्ड की अध्यक्ष हैं और ग्लोबल फोरम फॉर रूरल एडवाइजरी सर्विसेज (जी.एफ.आर.ए.एस) की बोर्ड मेंबर हैं। कृषि विकास एवं विस्तार में 1980 से काम काम करने के बाद वह हाल ही में केन्या में विस्तार सेवाओं और प्रशिक्षण के निदेशक के रूप में सेवानिवृत्त हुईं है। वह केन्या में राष्ट्रीय कृषि क्षेत्र विस्तार नीति और राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान प्रणाली के विकास में जुडी थीं। शहरी और पेरी-शहरी खेती उनकी एक विशेष रुचि है, क्योंकि यह युवाओं को व्यवसाय के रूप में कृषि को प्रोत्साहित कर रहा है। मैरी एक्सेस एग्रीकल्चर की उपाध्यक्ष हैं।

अल्फान नजारु एक एकाउंटेंट हैं और वित्तीय प्रबंधन, परियोजना प्रबंधन, लेखा परीक्षा और जोखिम प्रबंधन, कॉर्पोरेट प्रशासन, क्षमता निर्माण और सरकार एवं  सार्वजनिक क्षेत्र के लिए आश्वासन सेवाओं में विशाल विशेषज्ञता के एक प्रबंधन सलाहकार हैं । अल्फान प्राइसवाटरहाउसकूपर्स, जो सबसे बड़ी अंतरराष्ट्रीय परामर्श और लेखा परीक्षा फर्मों में से एक है, के साथ 36 वर्षों के लिए पूर्णकालिक कर्मचारी थें। पीडब्ल्यूसी से सेवानिवृत्त होने के बाद से, वह विभिन्न उद्योगों और गैर-सरकारी संगठनों में कई कंपनियों और संगठनों के निदेशकों के बोर्डों में शामिल हुए । वह विभिन्न बोर्डों के ऑडिट और जोखिम समितियों की अध्यक्षता भी करते हैं। अल्फान एक्सेस एग्रीकल्चर के कोषाध्यक्ष हैं।.

Designed & Built by Adaptive - The Drupal Specialists